examresult Blog

विश्वविद्यालय शिक्षा आयोग, (1948-1949) (The University Education Commission (1948-1949) 0

विश्वविद्यालय शिक्षा आयोग, (1948-1949) (The University Education Commission (1948-1949)

विश्वविद्यालय शिक्षा आयोग, (1948-1949) (The University Education Commission (1948-1949) जयपुर: राजस्थान ग्रन्थ अकादमी । 2. ओड, एल. के. (1977)- शिक्षा के नूतन आयाम, जयपुर: राजस्थान ग्रन्थ अकादमी । 3. गुप्ता, एस. पी. तथा अलका...

सैडलर आयोग की नियुक्ति के क्या कारण थे ? 0

सैडलर आयोग की नियुक्ति के क्या कारण थे ?

सैडलर आयोग की नियुक्ति के क्या कारण थे ? 5. लखनऊ विश्वविद्यालय – यह विश्वविद्यालय 1920 में स्थापित हुआ । इसका विधान और इसकी व्यवस्था ढाका विश्वविद्यालय के ही अनुरूप बनाई गई, जिसका विशद...

सार्जेण्ट रिपोर्ट में कितने से प्रकार के हाईस्कूल बताये गये है ? 0

सार्जेण्ट रिपोर्ट में कितने से प्रकार के हाईस्कूल बताये गये है ?

  सार्जेण्ट रिपोर्ट में कितने से प्रकार के हाईस्कूल बताये गये है ? मातृभाषा, भारतीय भाषायें, अंग्रेजी, भूगोल, गणित, विज्ञान, कृषि, कला, संगीत, शारीरिक शिक्षा आदि । व्यवहारिक स्कूलो में औद्योगिक, व्यापारिक तथा व्यावहारिक...

भारतीय विश्वविद्यालय आयोग 1902 की नियुक्ति के क्या कारण थे ? 0

भारतीय विश्वविद्यालय आयोग 1902 की नियुक्ति के क्या कारण थे ?

भारतीय विश्वविद्यालय आयोग 1902 की नियुक्ति के क्या कारण थे ? 4. प्रत्येक विश्वविद्यालय को अपने अध्यापकों को नियुक्त करने का अधिकार दिया जाए। विश्वविद्यालयों का पुनर्गठन 1. भारतीय परिस्थितियां ऐसी नहीं है कि...

1854 के शिक्षा के “आदेश-पत्र” की मुख्य सिफारिशें क्या थी? 0

1854 के शिक्षा के “आदेश-पत्र” की मुख्य सिफारिशें क्या थी?

1854 के शिक्षा के “आदेश-पत्र” की मुख्य सिफारिशें क्या थी? अत: छात्रों का उद्देश्य केवल परीक्षा उत्तीर्ण करना रहा न की ज्ञान अर्जन करना । 11. “आदेश-पत्र’ में शिक्षा संस्थानों को अनुदान देने की...

राष्ट्रीय प्राकृतिक संसाधनों का समुचित उपयोग और संरक्षण 0

राष्ट्रीय प्राकृतिक संसाधनों का समुचित उपयोग और संरक्षण

राष्ट्रीय प्राकृतिक संसाधनों का समुचित उपयोग और संरक्षण आज का विद्यार्थी कल राजनैतिक, प्रशासनिक, सामाजिक क्षेत्र में नेतृत्व करता है । अत: नेतृत्व के गुणों का विकास शिक्षा द्वारा किया जाना चाहिए जिसमें परिश्रम,...

प्राचीन कालीन शिक्षा की मुख्य विशेषताएँ क्या थीं 0

प्राचीन कालीन शिक्षा की मुख्य विशेषताएँ क्या थीं

प्राचीन कालीन शिक्षा की मुख्य विशेषताएँ क्या थीं मुस्लिम काल में व्यावसायिक शिक्षा जैसे ललित कला, हस्तकला, वास्तुकला तथा सैनिक शिक्षा आदि का भी विकास हुआ था । मुस्लिम काल में औपचारिक शिक्षा प्रणाली...

शिक्षा के सम्प्रत्यय की व्याख्या करते हुए किसी एक परिभाषा की विस्तृत विवेचना कीजिए | 0

शिक्षा के सम्प्रत्यय की व्याख्या करते हुए किसी एक परिभाषा की विस्तृत विवेचना कीजिए |

शिक्षा के सम्प्रत्यय की व्याख्या करते हुए किसी एक परिभाषा की विस्तृत विवेचना कीजिए  इस प्रकार विद्यालयीकरण शिक्षा का औपचारिक रूप है अर्थात् यह शिक्षा के संकुचित अर्थ को प्रकट करता है । विद्यालयीकरण...